• लखनऊ आगरा एक्सप्रेस वे पर एयरफोर्स का बड़ा अभ्यास
  • महिला की तस्वीर खींचने पर मप्र के गुना में भाजपा नेता पर मामला दर्ज
  • लोकसेवक संरक्षण कानून को लेकर बैकफुट पर वसुंधरा, प्रवर समिति को सौंपेगी बिल
होमMoreसहेलीMoreपरवरिश
Redstrib
परवरिश
Blackline
बच्चे के जब दांत निकलते हैं तो उनका ख्याल रखना मुश्किल होता है। लेकिन उन दांतों की देखभाल करना भी बहुत जरूरी होता है। ऐसा न करने से उनके दांत जल्द ही खराब होने लगते हैं। इन दांतों के खराब होने से बच्चों के मसूड़ों पर भी प्रभाव पड़ता है।
Published 23-Oct-2017 00:15 IST
एक अध्ययन के अनुसार, लगभग 4.2 करोड़ भारतीयों में थायरॉइड हार्मोन का स्तर असामान्य है। यह भी संकेत दिया गया है कि दुनियाभर के थायरॉइड रोगियों में 21 प्रतिशत अकेले भारत से हैं। पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में थायरॉयड विकार अधिक होते हैं।
Published 22-Oct-2017 00:15 IST
प्री-टर्म यानी समय से पहले जन्मे शिशुओं को बाद में चीजों को पहचानने, निर्णय लेने और कई तरह की अन्य व्यावहारिक कठिनाइयों के जोखिम से गुजरना पड़ सकता है। यहां तक कि समय पूर्व जन्मे शिशुओं को ध्यान केंद्रित करने में दिक्कत हो सकती है। इस समस्या को अटेंशन डेफिसिट हाइपरएक्टिविटी डिसऑर्डर (एडीएचडी) कहाMore
Published 17-Oct-2017 00:15 IST
भारत में कक्षा छह से दस के बीच पढ़ने वाले शहरी बच्चों में से केवल 18 फीसदी ही रोजाना फल खाते हैं, एक सर्वेक्षण के परिणाम में यह बात सामने निकलकर आई है। सर्वेक्षण में देश के ज्यादार बच्चों के खाने की खराब आदतों का खुलासा हुआ है। देश में 100 से ज्यादा स्कूलों में किये गये सर्वेक्षण से पता चलता है किMore
Published 14-Oct-2017 00:15 IST
बच्चों का पालन पोषण करने के लिए मां-बाप को उनका पल-पल ध्यान रखना पड़ता है। खाना-पीना,सही समय पर सोना शारीरिक विकास के लिए खेलने का समय भी देना। इसके बावजूद भी कुछ बच्चों के शारीरिक विकास में कमी रह जाती है।
Published 13-Oct-2017 00:15 IST
पहले समय में बच्चे खेलों में इतना व्यस्त रहते थे कि घर आने का नाम तक नहीं लेते थे लेकिन बदलते लाइफस्टाइल में स्तिथि ऐसी हो गई है कि पेरेंट्स बच्चों को घर से बाहर खेलने के लिए भेजते रहते है लेकिन बच्चे सारा दिन कंप्यूटर या फिर टी.वी देखने में बिजी रहते है। यहीं वजह बच्चों के मोटापे का कारण बन रही है।
Published 12-Oct-2017 00:15 IST
कई लोग ऐसा सोचते हैं कि छोटे बच्चों के दांतों की ज्यादा देखभाल करने की जरुरत नहीं होती। ऐसा इसलिए क्योंकि बच्चे के दूध के दांत कुछ समय बाद टूट जाते हैं लेकिन ऐसा सोचना गलत है। बच्चों की सेहत से जुडी हर बात का ख्याल रखना बहुत जरूरी है फिर चाहे वो खान-पान हो या फिर दांत।
Published 11-Oct-2017 00:15 IST
समय से पहले पैदा हुए बच्चों को अक्सर कई बीमारियों का सामना करना पड़ता है। उनका इम्यून सिस्टम नॉर्मल बच्चों से काफी कमजोर होता है। लेकिन उनके लिए मां का दूध अमृत समान माना जा सकता है। इसलिए नहीं कि वो मां का दूध है बल्कि इसलिए कि समय से पहले पैदा हुए बच्चे की मां के दूध में कुछ ऐसे खास तत्व होते हैंMore
Published 10-Oct-2017 00:15 IST
इंसान के दिमाग में हर उम्र में कई बदलाव आते हैं। टीनएजर्स का पड़ाव ऐसा है, जिसमें कई सही और गलत बातें होना आम है। टीनएजर्स के ऐसे कई राज होते है, जिन्हें वह अपने पेरेंट्स तो क्या किसी और से भी शेयर नहीं करते है।
Published 08-Oct-2017 00:15 IST
कई तरह के स्किन से रिलेटेड प्राब्लम्स ने लोगों का जीना दुशवार कर दिया है। जैसे सोरियासिस और की तरह के स्किन इंफेक्शन। एक ऐसा ही एक और स्किन इनफेक्शन है जिसे हम स्टाफ इंफेक्शन कह सकते हैं यह बो बीमारी है जिसमें स्किन पर इंफैक्शन होता है और उसमें पस भर जाता है।
Published 07-Oct-2017 00:15 IST
आप अक्सर अपने बच्चों के वीडियोगेम खेलने को लेकर परेशान होते हैं कि बच्च कहीं बिगड़ ना जायें या आपके हाथ से निकल न जाएं। लेकिन हम इस आर्टिकल के जरिये जो खबर आपको बताने जा रहे हैं उससे शायद आप अपने बच्चों को वीडियोगेम खेलने से न रोकें।
Published 06-Oct-2017 00:15 IST
जो बच्चे अपने निर्धारित समय से पहले जन्म लेते हैं उन्हें स्वास संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। हाल ही की एक रिसर्च में इस बात का खुलासा किया गया कि 37 से 38 हफ्तों में जन्म लेने वाले बच्चों को लंबे समय तक सांस की दिक्कतों से जूझना पड़ सकता है।
Published 04-Oct-2017 00:15 IST
बच्चों में वीडियो गेम और टीवी की लत तो पहले से थी ही अब एक और लत पड़ गई है उन्हें मोबाइल में वीडियो गेम खेलने की। बच्चों का टेक्नोलॉजी से लगाव ठीक है लेकिन उसकी लत बहुत खराब यह बात पेरेंट्स को समझने की बहुत जरूरत है उन्हें तो खासकर जो अपने बच्चे के मोह में इतने पागल होते हैं कि उनकी हर सहीं-गलतMore
Published 03-Oct-2017 00:15 IST
जो बच्चे, खासकर लड़के जल्दी यानी 18 महीने की उम्र में ही चलना, दौड़ना और उछलना शुरू कर देते हैं, उनके जवान होने पर हड्डियों के ज्यादा मजबूत होने की संभावना होती है। एक शोध से यह जानकारी मिली है। शोध में कहा गया है कि इन गतिविधियों से शिशुओं की हड्डियों पर असर पड़ता है, जिससे वे उन बच्चों की तुलनाMore
Published 01-Oct-2017 00:15 IST
बच्चों में बढ़ता मोटापा एक तरह के कैंसर का कारक है। जिससे लड़ना अकेले बच्चे के बस का नहीं है उसे इसके लिये अपने पेरेंट्स के सहारे की जरूरत पड़ती ही है। इस परेशानी में माता-पिता ही बच्चे का सहारा बनते हैं। बच्चों में होने वाली इस परेशानी से लड़ने के लिये पेडियाट्रीशियन्स ने रिसर्च के माध्यम से एकMore
Published 29-Sep-2017 00:15 IST

video playआगरा-लखनऊ एक्प्रेसवे बना AirForce का
video playकौमी एकता की अनूठी मिसाल, ये मुस्लिम परिवार दशकों से कर रहा छठ
कौमी एकता की अनूठी मिसाल, ये मुस्लिम परिवार दशकों से कर रहा छठ
video playबिजनौर: आज नजीबाबाद आएंगे सीएम योगी, जिला प्रशासन अलर्ट
बिजनौर: आज नजीबाबाद आएंगे सीएम योगी, जिला प्रशासन अलर्ट
video playआजमगढ़ में BSP की महारैली आज, BJP के खिलाफ हमला बोलेंगी मायावती
आजमगढ़ में BSP की महारैली आज, BJP के खिलाफ हमला बोलेंगी मायावती

चार में एक व्यक्ति इसलिए अपनी जॉब छोड़ देता है
video playइन इशारों को समझें, वक्त आ गया है नौकरी बदलने का
इन इशारों को समझें, वक्त आ गया है नौकरी बदलने का
video playअब इन क्षेत्रीय भाषाओं वालों को भी दिलाएगी youth for work नौकरी
अब इन क्षेत्रीय भाषाओं वालों को भी दिलाएगी youth for work नौकरी

ये प्वाइंट्स दबाकर अपनी इन समस्याओं से पाएं छुटकारा
video playछोड़नी है स्मोकिंग तो हरकारों का साथ अपनाएं
छोड़नी है स्मोकिंग तो हरकारों का साथ अपनाएं
video playदिवाली के बाद मन न हो उदास, इसलिए करें ये खास उपाय
दिवाली के बाद मन न हो उदास, इसलिए करें ये खास उपाय

जींस की स्पेशल केयर भी है जरूरी वर्ना...
video playराशि के अनुसार दिवाली पर ऐसे करें पूजा
राशि के अनुसार दिवाली पर ऐसे करें पूजा
video playरोशनी के त्योहार में इस तरह घर को सजाएं
रोशनी के त्योहार में इस तरह घर को सजाएं