• लखनऊ आगरा एक्सप्रेस वे पर एयरफोर्स का बड़ा अभ्यास
  • महिला की तस्वीर खींचने पर मप्र के गुना में भाजपा नेता पर मामला दर्ज
  • लोकसेवक संरक्षण कानून को लेकर बैकफुट पर वसुंधरा, प्रवर समिति को सौंपेगी बिल
Redstrib
तीर्थ
Blackline
औरंगाबाद। आपने कई सूर्य मंदिरों के बारे में सुना और देखा होगा, लेकिन बिहार के औरंगाबाद जिले के देव स्थित प्राचीन सूर्य मंदिर अनोखा है। कहा जाता है कि इस मंदिर का निर्माण स्वयं भगवान विश्वकर्मा ने एक रात में की थी। यह देश का एकमात्र ऐसा सूर्य मंदिर है, जिसका दरवाजा पश्चिम की ओर है।
Published 22-Oct-2017 12:11 IST | Updated 12:31 IST
पटना। 51 शक्तिपीठों में से एक बड़ी पटन देवी राजधानी पटना के गुलजार बाग इलाके में स्थित है। भक्त मां के सच्चे दरबार में श्रद्धा व भक्ति से आराधना करते हैं। खासकर दुर्गा पूजा के दौरान श्रद्धालुओं की लंबी लाइन लगी रहती है।
Published 26-Sep-2017 16:41 IST | Updated 16:47 IST
मुरैना। इन दिनों पूरा देश देवी भक्ति में लीन है। नवरात्रि में हर जगह लोग माता के जयकारे के साथ पूजा व व्रत कर रहे हैं। हर देवी की कोई न कोई कहानी और दंतकथाएं प्रचलित हैं। महाभारत काल से जुड़ी हुई कुछ ऐसी ही कहानी है बहरारे वाली माता की।
Published 25-Sep-2017 11:13 IST | Updated 11:34 IST
जबलपुर। विश्व प्रसिद्ध त्रिपुर सुंदरी मंदिर 14 किमी दूर तेवर गांव के भेड़ाघाट रोड पर स्थित है। इस मंदिर में मां महाकाली, मां महालक्षी और मां सरस्वती की विशाल मूर्ति एक साथ विराजमान है। प्रमुख आकर्षण होने के अलावा इस मंदिर को काफी पवित्र माना जाता है और यह धार्मिक आस्था का महत्वपूर्ण केन्द्र है।
Published 23-Sep-2017 07:12 IST
समस्तीपुर। जिला मुख्यालय से चार किलोमीटर की दूर वारिसनगर प्रखंड के शेखोपुर पंचायत में एक ऐसा भगवती स्थान है, जिनके दर्शन करने मात्र से हर मनोकामना पूर्ण हो जाती है। कहा जाता है कि मां भगवती के दरबार से कोई खाली हाथ नहीं लौटता है।
Published 22-Sep-2017 17:02 IST
सवाई माधोपुर। शहर से 14 किलोमीटर की दूरी पर अरावली पर्वत मालाओं से घिरे रणथम्भौर दुर्ग स्थित त्रिनेत्र गणेश के तीन दिवसीय लक्खी मेले में श्रद्धालु पहुंचे। भगवान गणेश के जन्मोत्सव पर श्रद्धा का सैलाब उमड़ पड़ा। मेले में आने वाले लाखों श्रद्धालुओं ने गणेशजी के दर्शन कर अपनी और अपने परिवार की कुशलता कीMore
Published 26-Aug-2017 17:18 IST
धौलपुर। जिले में वैसे तो भाद्र मास में आधा दर्जन से अधिक मिले आयोजित होते हैं। जिनमें डांग क्षेत्र के बाबू महाराज का लक्खी मेला और धौलपुर देवताओं के भांजे मचकुंड का देव छठ मेला प्रमुख स्थान रखते हैं। जिले का देव छठ मेला ऐसा है जिस पर जिला कलेक्टर द्वारा पूरे जिले में जिले वासियों को 1 दिन का अवकाशMore
Published 25-Aug-2017 17:11 IST
जैसलमेर। अगर किसी को नया घर खरीदना हो या फिर बनवाना हो तो वह या तो किसी बिल्डर के पास जायेगा या फिर किसी मजदूरों व कारीगरों की टीम से संपर्क करेगा जो कि घर बनाता हो। लेकिन जैसलमेर में यह काम भगवान के भरोसे छोड़ा हुआ है। सुनने में यह जरूर अटपटा लगेगा लेकिन यह सच्चाई है।
Published 25-Aug-2017 05:00 IST | Updated 11:59 IST
उज्जैन। एमपी में एक ऐसा भी मंदिर है जो पूरे साल में नागपंचमी पर रात 12 बजे खुलता है। यह मंदिर उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर के शिखर पर मौजूद है इस मंदिर का नाम नागचंद्रेश्वर मंदिर है।
Published 28-Jul-2017 12:38 IST | Updated 14:54 IST
कांगड़ा। देवभूमि हिमाचल प्रदेश में श्रावण अष्टमी नवरात्र मेला चल रहा है। 03 अगस्त तक चलने वाले मेलों में कांगड़ा घाटी के मंदिरों में खासी भीड़ जुटती है। इन शक्तिपीठों में वर्ष के दौरान पड़ने वाले चार नवरात्र चैत्र, शरद, गुप्त तथा श्रावणाष्टमी के अवसर पर इन मन्दिरों में मां के दर्शन और पूजा-अर्चना काMore
Published 27-Jul-2017 11:32 IST
मधुबनी। मिथिलांचल में सैकड़ों शिव मंदिर हैं, लेकिन पौराणिक महत्व व पौराणिक विरासत वाली मिथिलांचल का प्रसिद्ध धार्मिक और दर्शनीय स्थल भवानीपुर गांव का उग्रनाथ मंदिर है। इस मन्दिर में सावन के सोमवारी के अवसर पर हजारों की संख्या में श्रद्धालु -भक्तजन पूजा अर्चना के लिए पहुंचे हैं।
Published 24-Jul-2017 12:58 IST
धौलपुर। जिले के चम्बल रोड पर करीब 5 किलोमीटर की दूरी पर जंगल में बाबा भोलेनाथ का एक ऐसा मंदिर है जिसके बारे में एक अद्भुत मान्यता है। मान्यता है कि यहां भोले बाबा का शिवलिंग तीनों पहर तीन रंग का दिखाई देता है। यह विख्यात शिवलिंग धौलपुर के डांग क्षेत्र में स्थित अचलेश्वर महादेव है।
Published 24-Jul-2017 08:17 IST
भगवान शिव की अमोघ शक्‍तियों का केंद्र है त्रिशूल। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि भारत में एकमात्र बैद्यनाथ ज्‍योतिर्लिंग ही है जहां त्रिशूल की जगह पंचशूल भगवान शिव का अस्‍त्र है। सवाल उठता है कि आखिर ऐसा क्‍यों है? आइए जानते हैं।
Published 20-Jul-2017 16:30 IST
वाराणसी में एक ऐसा भी गुरूद्वारा है जहां गंगा का जल आज भी अमृत है और भक्तों को हर रोग से मुक्ति देता आ रहा है। गुरुद्वारे में आज भी मां गंगा का जल श्रोत बिल्कुल निर्मल रूप में मौजूद हैं। जिसका दर्शन भक्त करते हैं और अमृत जल भी ग्रहण करते है जिससे कई सारे रोगों से लोगों को मुक्ति मिलती है।
Published 19-Jul-2017 13:11 IST | Updated 13:53 IST
नूंह। शिव भक्तों की यह मान्यता है कि जो सच्चे मन से अपनी मुराद यहां के मंदिर में मांगता है,भोले नाथ उसे कभी निराश नही करते हैं। इसलिए युवतियां व महिलाएं भी 108 जेघड़ से मंदिर के कुएं से पानी लेकर भोले को स्नान कराती हैं ओर मनवांछित फल पाती है।
Published 16-Jul-2017 13:11 IST | Updated 12:03 IST

video playआगरा-लखनऊ एक्प्रेसवे बना AirForce का
video playकौमी एकता की अनूठी मिसाल, ये मुस्लिम परिवार दशकों से कर रहा छठ
कौमी एकता की अनूठी मिसाल, ये मुस्लिम परिवार दशकों से कर रहा छठ
video playबिजनौर: आज नजीबाबाद आएंगे सीएम योगी, जिला प्रशासन अलर्ट
बिजनौर: आज नजीबाबाद आएंगे सीएम योगी, जिला प्रशासन अलर्ट
video playआजमगढ़ में BSP की महारैली आज, BJP के खिलाफ हमला बोलेंगी मायावती
आजमगढ़ में BSP की महारैली आज, BJP के खिलाफ हमला बोलेंगी मायावती

ये प्वाइंट्स दबाकर अपनी इन समस्याओं से पाएं छुटकारा
video playछोड़नी है स्मोकिंग तो हरकारों का साथ अपनाएं
छोड़नी है स्मोकिंग तो हरकारों का साथ अपनाएं
video playदिवाली के बाद मन न हो उदास, इसलिए करें ये खास उपाय
दिवाली के बाद मन न हो उदास, इसलिए करें ये खास उपाय

माइकल जैक्सन की बेटी ने तूफान से त्रस्त लोगों की मदद की
video playजॉन स्टेमॉस ने कैटलिन मैकह्यू से सगाई की
जॉन स्टेमॉस ने कैटलिन मैकह्यू से सगाई की
video playबेघर महिला ने इस अभिनेत्री का लापता बटुआ लौटाया
बेघर महिला ने इस अभिनेत्री का लापता बटुआ लौटाया

चार में एक व्यक्ति इसलिए अपनी जॉब छोड़ देता है
video playइन इशारों को समझें, वक्त आ गया है नौकरी बदलने का
इन इशारों को समझें, वक्त आ गया है नौकरी बदलने का
video playअब इन क्षेत्रीय भाषाओं वालों को भी दिलाएगी youth for work नौकरी
अब इन क्षेत्रीय भाषाओं वालों को भी दिलाएगी youth for work नौकरी